Categories
मेरे-प्रकाशन

*तनहाई का सफ़र*

*तनहाई का सफ़र*
*तनहाई का सफ़र*

सभी मित्रों को बताते हुए बेहद खु़शी है के 01 जनवरी2021 को नव वर्ष के तोहफे़ के रुप में लोकेंद्र स्वरूप कुल हिंद अदबी अंजुमन का 5 शाइरों का शेरी मजमुआ *तनहाई का सफ़र* मन्ज़रे-आम पर आ गया है

इसमें तबस्सुम आज़मी साहिबा मोहम्मद हुसैन हसन साहब राजीव रजनीश भाई जन्नत नशीन सुरेश स्वप्निल भाई तथा ख़ाकासार चित्रेन्र्द स्वरूप राजन की 19 ग़ज़लें शामिल है

लगभग 2 महीने के अल्प समय में हमने आप सबके सहयोग से इस काम को अंजाम दिया है सभी को बहुत-बहुत बधाई

Latest posts by चित्रेन्द्र स्वरूप राजन (see all)