Categories
ग़ज़ल

तस्वीरे- रंगो -नूर

हूं जामो- मय से दूर तुझे देखने के बाद

बढ़ने लगा सुरूर तुझे देखने के बाद

तस्वीरे- रंगो -नूर तुझे देखने के बाद

देखेगा कौन हूर तुझे देखने के बाद

मेरा जुनूने-शौक़ भी अब कुछ संवर गया

ऐ हुस्ने- बा -शऊर तुझे देखने के बाद

उठती नहीं है जामो- सुबू की तरफ़ निगाह

दिल है नशे में चूर तुझे देखने के बाद

अल्लाह रे तेरा ख़ौफ़ कि ऐ शहरे- खा़मुशी

सर है सरे- ग़ुरुर तुझे देखने के बाद

जा़लिम ये कौन सा है मक़ामे- नज़र बता

राजन है नासुबूर तुझे देखने के बाद

Latest posts by चित्रेन्द्र स्वरूप राजन (see all)