Categories
मेरे-प्रकाशन

लोकेंद्र स्वरूप कुल हिन्द अदबी अंजुमन

लोकेंद्र स्वरूप कुल हिन्द अदबी अंजुमन
लोकेंद्र स्वरूप कुल हिन्द अदबी अंजुमन

लोकेंद्र स्वरूप कुल हिन्द अदबी अंजुमन अब तक तीन ग़ज़लों के संग्रह निकाल चुका है अभी हाल ही में हमने *तनहाई का सफ़र* उनवान से एक ग़ज़ल संग्रह प्रकाशित किया है

उस में पांच शाइरों के 20-20 पेज के 5 लघु संग्रह थे और सहयोग राशि नाम मात्र की थी.

सभी दोस्तों को संग्रह भेजा जा चुका है. इसी तरह का दूसरा साझा संग्रह निकट भविष्य में प्रकाशित किया जा रहा है .

सभी शायर मित्रों से संग्रह में शिरकत करने की गुजा़रिश है.

Latest posts by चित्रेन्द्र स्वरूप राजन (see all)