Categories
समीक्षा

*कहां तुम चले गए* की समीक्षा

हमारा अभी हाल ही में शाया हुआ साझा ग़ज़ल संग्रह *कहां तुम चले गए* की समीक्षा अर्बाबे-क़लम के 43 अंक में प्रकाशित हुई है मैगजीन के संपादक डॉ इक़बाल बशर और समीक्षक श्रीमती रोशन सिद्दकी़ साहिबा को बहुत-बहुत धन्यवाद

Categories
प्रकाशित गज़ले

अरबाब ए कलम पत्रिका

दोस्तों सितंबर दिसंबर 2020 अंक नंबर 44 में अरबाब ए कलम पत्रिका जो कि गंगा जमुनी अदब का जदीद दस्तावेज है इसकी प्रसिद्धि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर है इस मैगजीन में आप सबकी शुभकामनाओं से मेरी ग़ज़ल प्रकाशित हुई है संपादक डॉ इक़बाल बशर को बहुत-बहुत धन्यवाद